रविवार, 19 दिसंबर 2021

जलन पर शायरी \ Jalan Shayari, Quotes In Hindi

jalan Shayari , Jalan Shayari In Hindi , Jalan Shayari Image , Jalan Shayari 2022 , Jalan Par Shayari 


Jalan Shayari In Hindi


जलन शायरी


 मेरी फितरत में नहीं आग लगाना 

मेरी सादगी से लोग जले 

तो मेरा क्या। 


मिलो में बदल जाते हे दो कदम 

के फासले भी 

 जब तरक्कीसे अपने जलते हे।



हमसे जलन रखने वाले भी 

कमाल करते हे 

खुद की सजाते हे महफिले और 

चर्चे हमारे करते हे। 


अलग ही मजा हे बाजार में जीने का 

लोग जलना नहीं छोड़ते और 

हम मुस्कुराना नहीं छोड़ते। 


Jalan Shayari In Hindi


बरक़रार रखो तुम अपनी जलन 

हम अपना जलवा बरक़रार रखेंगे। 


समझ जाओ अगर वो तुमसे 

जलने लगे हे तो 

तुम वो बन चुके हो जो वो बनना 

चाहता था पर बन ना सका। 



मुझे बड़ी जलन होती हे अगर तुम 

किसी और से बात करो तो 

यकीन हे तुम बस मेरी हो फिर भी 

आहत सी होती हे। 


दुनिया को तो सिखाना ही था 

मुझे मोहब्बत तुमसे 

जब सारा प्यार मिले जहा को सूरज को 

चाँद को तो जलना ही था। 


Jalan shayari Image


Jalan Shayari Image


लोग जलते हे अगर मुस्कुराओ तो 

और तन्हा रहो तो सवाल करते हे। 


इतना मत जलो इर्षा की आग में 

की राख बन जाओ 

सुलगा कर आग जुनूनीयत की बखूबी 

शोला कहलाओ। 


दुश्मनी पर शायरी 

बहोत देखि आग तो लेकिन 

इर्षा के जैसी जलन किसी में न देखि। 


जब हम दुसरो में देखते हे 

खुद की गलतिया 

तो हमें बड़ी ही जलन होती हे। 


Jalan Shayari 2022


तुम किसी से जलन करते हो 

जितने समय तक 

उतने ही समय में तुम उसे 

जला भी सकते हो। 


हम दोनों ही जलते तो हे लेकिन 

फर्क सिर्फ इतना हे की 

हम जलकर निखर जाते हे 

और वो जलकर राख हो जाते हे। 


जलन पर स्टेटस 

दिखती हे अब यही चाल चलन 

दोस्तों की बधाई में भी अब 

जलन दिखती हे। 


शक का नाम देते हे उल्फत में 

जलन को 

मजा ही और होता अगर इश्क

करार देते। 


Best Jalan shayari


Jalan Shayari 2022


जलते रहना जलने वालो का काम हे 

मगर हमने ठान लिया हे 

चलते रहना। 


तेरी बिंदी से भी मुझे जलन होती हे 

यु रोज सुबह माथे पे कोई 

चूमता हे क्या। 



एक दिन होली जलती हे और एक दिन 

रावण जलाता हे 

और बाकी के दिन इंसान इंसान से 

जलाता हे। 


जिस धुप में आज सुकून हे 

कल उसी धुप से 

जलन होंगी। 


Image For Jalan Shayari


आँखों में तूफान सीने में जलन क्यों हे 

इस शहर में हर शक्श परीशान 

सा क्यों हे। 


इन आँखों में न जाने कौनसा नमक हे 

पानी बरसती चहेरे से हे लेकिन 

जलन दिल में होती हे। 


सफाई शायरी 

जलन होती हे अब मुझे इन 

आँखों से 

खुली हो तो ख्याल तेरे और 

बंध हो तो ख्वाब तेरे। 


उसके रोगो की कोई दवा नहीं हे 

जो जलता हे तरक्की देखकर 

लोगो की। 


Jalan Shayari


jalan Par shayari


हर वक्त चूमना उसके गालो को 

मुझे जलन होने लगी हे 

मुझे उसके जुमको से। 


सारी बरकत हे जलने वालो की 

दुआ से 

वरना अपना कहने वाला तो 

याद भी नहीं करते। 


( ये पोस्ट पढ़ने के लिए धन्यवाद )

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

close button