बुधवार, 25 मई 2022

स्वागत पर शायरी | Welcome Shayari In Hindi

Welcome Shayari In Hindi


स्वागत पर शायरी


 हम सब मिलकर आये हे 

आपका स्वागत करने 

चहेरे पर मुस्कान और हाथ 

में माला लाये हे। 


बिन बुलाये आते हे लोग 

हमारी महफ़िल में 

क्योकि यहां स्वागत में फूल नहीं 

पलकें बिछाये जाते हे। 


हर अरदास अधूरी होती हे 

अतिथि सत्कार बिना 

अतिथि वो फ़रिश्ते हे जिनके आने 

से आस पूरी होती हे। 


 जब से आप पधारे हे महक उठा 

ये घर आँगन 

ऐसा अहेसास होता हे जैसे 

जन्मो से आप हमारे हे। 


Welcome Shayari In Hindi

मिट गए सारे अंधियारे धन्य धन्य 

हुए आज तो हम 

आँखों को बहुत सुकून आया जो आप 

हमारे द्वार पधारे। 


एक दुआ मिल गई हार को जित की 

तपन मौसम में ठंडी हवा मिल गई 

आप आये श्री मान जी यु लगा 

जैसे तकलीफ को कुछ दवा मिल गई। 



गुलशन गुलशन फूल खिले हे 

जो आप आये हमारे द्वार पर 

जल उठे हे हजार दिए जैसे 

मन में आपके आगमन पर। 


Welcome Shayari Image

Welcome Shayari Image


कुछ इस तरह आये वो हमारी 

महफ़िल में 

की हर तरफ चाँद तारे झिलमिलाने लगे 

देखकर दिल उनको झूमने लगा 

सब के मन जैसे खिलखिलाने लगे। 


महफ़िल में वो बात न रहेंगी 

सौ चाँद आये तो भी 

सिर्फ आपके आने से ही हमारी 

महफ़िल की रौनक बढ़ेंगी। 



खुदा ने ऐसे लोगो को कम बनाया हे 

जो दिल का हो खूबसूरत 

जिन्हे ऐसा बनाया हे खुदा ने 

आज वो हमारी महफ़िल में आये हे। 


Welcome Shayari 2022

नूर फेल जाता हे रौनक दमक उठती हे 

जब महफ़िल में आप सा कोई 

कदम रखता हे। 


 खूबसूरती नजर आयी फूल खिले 

गुलशन में 

आप आये साथ में खुशिया खुशिया आयी। 


हमारे बोलने के भाव से पता चलता हे 

शब्दों का वजन तो 

वैसे तो दीवारों पर भी वेलकम 

लिखा होता हे। 


इंतजार पर शायरी

थोड़ी सी हमारी मदद कीजिये 

महफ़िल को खूबसूरत बनाने के लिए 

अंजान बनकर मायूस नहीं बैठना हे 

खुलकर मुस्कुराहट और आंनद लीजिये। 


Best Welcome shayari In Hindi

Welcome Shayari 2022


पलके बिछाते हे अजीज के इंतजार में 

महफ़िलो की रौनक खास 

लोग ही बढ़ाते हे। 


कुछ कमी सजाई महफ़िल में 

भी लगती हे 

आपके आने से मुकम्मल 

महफ़िल सजी। 


बड़े होते हे जो दिल के 

वही स्वागत के लिए खड़े होते हे। 


सम्मान पर शायरी

आपके चहेरे पर मुस्कान मीठी बात 

आप जैसे लोग ही हे इस 

 महफ़िल की शान। 


Swagat Par Shayari

 हर एक घर अच्छा लगा हर गली 

अच्छी लगी 

वो जो आया शहर में तो शहर 

भर अच्छा लगा। 


क्या बात बनेंगी सौ चाँद भी 

चमकेंगे तो 

तुम आये तो इस रात की 

औकात बनेंगी। 


स्वागत पर कविता

ये मुलाकात बड़ी देर के बाद आयी 

चांदनी रात बड़ी देर के बाद आयी 

आज आये हे वो मिलने बड़ी मुदत के बाद 

आज की रात बड़ी देर के बाद आयी। 


swagat Shayari 2022

Swagat Par Shayari


( ये पोस्ट पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद )

1 टिप्पणी:

close button